निरंतर खबरे :

कोर्ट ने तबलीगी जमात से जुड़े 122 मलेशियाई नागरिकों को दी जमानत| Jio ने पेश किए 49 और 69 रुपए वाले नए रिचार्ज प्लान्स, मिलेंगे ये फायदे|  यूपी में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क ना पहनने पर जुर्माना राशि बढ़ेगी |  खदानों में मजदूरी के लिए नाबालिग लड़कियों का यौन शोषण| प्रदेश में खेती के बाद सबसे अधिक रोजगार बुनाई उद्योग से मिलता| अभी नहीं आया कोरोना का पीक, मौत के आंकड़े पकड़ सकते हैं रफ्तार|  हमीरपुर में एसटीफ की बदमाशों के साथ मुठभेड़| दिवंगत पत्रकार तरुण सिसोदिया के परिवार को 2 लाख रु की आर्थिक मदद दी जाएगी: आदेश गुप्ता| कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष लल्लू फिर गिरफ्तार, राज्यपाल को सौंपने जा रहे थे ज्ञापन| PCS अधिकारी ने की खुदकुशी, सुसाइड नोट में लिखा-मुझे फंसाया गया, नहीं था कोई और रास्ता| अधिशासी अधिकारी ने फांसी लगाकर की खुदकुशी| किशोरी के साथ दरोगा'का अमर्यादित फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल, एसपी ने किया लाइन हाजिर| वीडियो चैट में गांगुली का बड़ा खुलासा- सचिन कभी नहीं करना चाहते थे पहली गेंद का सामना| भविष्य में विफलता के तौर पर होगी ‘कोविड-19, नोटबंदी और जीएसटी’ पर चर्चा : राहुल| संकट में तत्‍काल मदद को पहुंचेगी यह शेरनी दस्‍ता| गांव की सड़कें तालाब में तब्दील, ग्रामीण कीचड़ में चलने को मजबूर| डिप्टी कलेक्टर राजीव उपाध्याय ने शहरी क्षेत्रों में जाकर कोविड-19 का पालन न करने वालों को दी सख्त चेतावनी।| उत्तर प्रदेश : शराब बिक्री में कमी से राजस्व को झटका| महाराष्ट्र में दूसरे प्रांत के कामगारों के लिए बढ़ी परेशानी|  हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर अब ढाई लाख का इनाम|

क्या चीन में प्रिंट हो रही भारतीय मुद्रा, कांग्रेस ने पूछा सरकार स्पष्ट करे 



नई दिल्ली 13 अगस्त 2018। क्या भारतीय नोट चीन में छपते हैं? चीन की मीडिया में आई एक रिपोर्ट तो कुछ ऐसा ही इशारा कर रही हैं। यही वजह है कि कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सरकार से स्पष्टीकरण की मांग की। दरअसल, चीनी अखबार की एक रिपोर्ट कहती है कि भारत, नेपाल, बांग्लादेश, मलेशिया, थाइलैंड समेत कई देशों की करंसी चीन स्थित प्रिंटिंग प्रेसों में छापी जा रही हैं। यह रिपोर्ट बेल्ट ऐंड रोड प्रॉजेक्ट की वजह से चीन में अन्य देशों के नोट प्रिंटिंग के बढ़ते कारोबार और वहां की अर्थव्यवस्था पर इसके असर से संबंधित है। इसमें भारत का भी जिक्र है। हालांकि सरकार की तरफ से फिलहाल इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि भारतीय नोट चीन में छपते हैं या नहीं। 
हालांकि, इस रिपोर्ट पर विरोध दल कांग्रेस आक्रामक हो गई है। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने इस भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए सरकार से स्पष्टीकरण मांगा है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और पीयूष गोयल को टैग करते हुए ट्वीट किया, अगर यह सच है तो इसका राष्ट्रीय सुरक्षा पर घातक असर हो सकता है। पाक के लिए इसकी नकल करना और आसान हो जाएगा। थरुर ने पूछा कि पीयूष गोयल और अरुण जेटली, कृपया स्पष्ट करें। बहरहाल, इस रिपोर्ट की पुष्टि के लिए अखबार ने बैंक नोट प्रिंटिंग ऐंड मिंटिंग कॉर्पोरेशन के प्रजिडेंट लियू गुशेंग के 1 मई के एक इंटरव्यू का हवाला दिया है। गुशेंग ने बताया था कि साल 2013 से चीन में विदेशी नोटों की छपाई का काम शुरू हुआ और अब यहां की प्रिटिंग प्रेसों में भारत, नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका, मलयेशिया, थाइलैंड, ब्राजील, पोलैंड सहित कई देशों के नोट छापे जाते हैं। 
 

Comments