निरंतर खबरे :

योगी-मोदी शुक्रवार को यूपी के एक करोड़ लोगों को देंगे रोजगार| कोरोना संक्रमण पहुंचा 5 लाख के करीब, दिल्ली ने मुंबई को पीछे छोड़ा| कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के निर्माण की हुई घोषणा| लखनऊ:बैंक ऑफ बड़ौदा का जनरल मैनेजर कोरोना संक्रमित, बैंक अगले 24 घंटो के लिए बंद| 50 हजार करोड़ रुपये के गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत| T20 विश्व कप को लेकर CA का बड़ा बयान, कहा- फैंस को स्टेडियम में आने की अनुमति दी जाएगी| भारत-चीन विवाद पर राहुल गांधी ने पीएम पर फिर साधा निशाना, बोले- नरेन्द्र मोदी वास्तव में ‘सरेंडर’ मोदी हैं| आतंकवादी हमले की संभावना को लेकर हाई अलर्ट पर दिल्ली पुलिस| चीन को मिला बॉर्डर पर गुस्ताखी का जवाब| चाइनीज प्रोडक्ट्स बायकॉट करने की मांग| धूम्रपान से गहरा नाता है अकेलेपन का, लॉकडाउन में बढ़ सकती है समस्या|  लालजी टंडन की हालत नाजुक | लॉकडाउन की अफवाहों को छोड़ अनलॉक के दूसरे चरण की तैयारी करें राज्य| प्रवासी मजदूरों के लिए मोदी सरकार ला रही है मेगा प्लान|  24 घंटे में देश में मिले कोरोना के 12881 केस, 334 मरीजों की मौत| भारत अस्थायी सदस्य बनने पर पीएम मोदी बोले भारी समर्थन के लिए आभारी| पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी को हुआ कोरोना वायरस| बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने किया सुसाइड आज मुंबई में होगा अंतिम संस्कार| नए नक्शे को लेकर भारत के खिलाफ अगले कदम को तैयार नेपाल| देश में एक दिन में कोरोना के रिकॉर्ड 11502 नए केस, संक्रमितों की संख्या 3.32 लाख से अधिक|

भारत अस्थायी सदस्य बनने पर पीएम मोदी बोले भारी समर्थन के लिए आभारी



नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों ने भारी समर्थन के साथ 2021-22 के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की गैर-स्थायी सीट के लिए भारत का चुनाव किया। पीएम मोदी ने इसपर धन्यावाद करते हुए एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा भारी समर्थन के लिए आभारी हूं, भारत यूएनएससी के गैर-स्थायी सदस्य सीट के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुआ है। 
भारत को मिले 192 वैध वोटों में से 184 मिले। बता दें कि एशिया-प्रशांत श्रेणी की सीट से भारत आठवीं बार गैर-स्थायी सदस्य बना है। बहुपक्षीय प्रणालियों में सुधार के लक्ष्य के साथ भारत इस कार्यकाल का बेहतर उपयोग करके एक स्थायी सीट के अपने दावे को आगे बढ़ा सकेगा। सीट के लिए दावेदार सात देशों में, भारत 2021-22 के लिए क्षेत्र से निर्विरोध था। भारत संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों के एशिया-प्रशांत समूह का समर्थन प्राप्त करने वाला एकमात्र उम्मीदवार था और इस मुकाबले में कोई देश नहीं आया। 15 सदस्यीय परिषद में पांच अस्थायी सीट में से एक के लिए भारत का चुनाव किया गया है। हालांकि, संयुक्त राष्ट्र में कुछ राजनयिकों ने इसके लिए काफी आंतरिक प्रयास किए हैं। भारत को उम्मीद है कि विस्तारित सुरक्षा परिषद में एक स्थायी सीट के लिए अपनी दावेदारी को आगे बढ़ाने के लिए वह अपने आठवें कार्यकाल का उपयोग करेगा। सुरक्षा परिषद के प्रत्येक नए सदस्य को दो तिहाई वोट जीतने की आवश्यकता होती है, जिसका अर्थ है कि सभी 193 देशों के वोटों के अनुसार 128 वोट।

Comments