निरंतर खबरे :

पूर्व न्याय मंत्री व विधायक ने छात्राओं को किया सम्मानित| प्राथमिक विद्यालय अस्ती के बच्चों ने किया जागरूक| वीरागंना झलकारी बाई की मनाई 190वीं जयंती | सपा संरक्षक मुलायम सिंह का मनाया जन्मदिन, काटा केक| छोटे किसानों का धान केंद्र में नहीं खरीदा जा रहाः रामदत्त मिश्रा| आवारा पशुओं द्वारा फसलों का नुकसान किए जाने पर चर्चा | शाहाबाद ब्लाक प्रमुख के जेठ नलिन गुप्ता की कार टैक्ट्रर ट्राली में जा घुसी,बाल बाल बचे| मुलायम के जन्मदिन पर 2022 में सपा की सरकार बनाने का लिया संकल्प| राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने मिशन शक्ति अभियान के तहत मनाया रानी लक्ष्मी बाई का जन्म दिवस।| शाहबाद लेखपाल संघ का चुनाव निर्विरोध संपन्न, नरेन्द्र बने पुनःअध्यक्ष| बीआरसी पर रानी लक्ष्मी बाई को दीप प्रज्वलित कर याद किया गया| ग्राम पंचायत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आजिविका मिशन की हुई बैठक| शाहाबाद कोतवाली में तैनात कांस्टेबल अमित कुमार, राहुल कुमार को एसपी अनुराग वत्स ने किया सम्मानित| महिला सुरक्षा और यातायात नियमों के प्रति किया जागरूक| छात्राओं को बताये सुरक्षा के गुर| सपा नौजवान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का राष्ट्रीय सचिव ने किया स्वागत| वृद्ध जरूरतमंद विकलांगो को भोजन लईया गट्टा पट्टी मोमबत्ती मिठाई का वितरण | भ्रष्टाचार के विरुद्ध गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक नें किया प्रदर्शन| मीना मंच सुगमकर्ता कार्य योजना की बैठक| प्रशासन और संभ्रांत जनों के बीच संवाद जरूरी |

 दुनिया में करीब ढाई करोड़ लोग संक्रमित, सभी को कोरोना के खिलाफ कारगर वैक्‍सीन का इंतजार 




रूस की वैक्सीन पर कई देशों ने उठाए सवाल, भारत में कोवाक्सिन और जायकोव-डी का ह्यूमन ट्रायल जारी


नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना के मरीजों की संख्‍या 2,48,22,453 तक जा पहुंची है और 8,37,134 मरीजों की मौत भी हो गई है। हर दिन के साथ मरीजों और इससे होने वाली मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे मे सभी को इसकी वैक्‍सीन के आने का इंतजार है। इस काम में भारत समेत कई दूसरे देश भी लगे हुए हैं। हालांकि रूस ने अपनी वैक्‍सीन स्‍पूतनिक को पूरी तरह से कारगर घोषित कर दिया है और इसके उत्‍पादन के लिए कुछ देशों से समझौता भी कर लिया है। हालांकि इसको लेकर विभिन्‍न देश सवाल उठा चुके हैं। आरोप है कि रूस ने इसका थर्ड फेज का ट्रायल पूरा नहीं किया है। एम्‍स के कम्‍यूनिटी मेडिसिन के प्रोफेसर संजय कुमार राय का कहना है कि रूस ने ट्रायल के दस्‍तावेज किसी को नहीं दिखाए हैं। ऐसे में रिस्‍क नहीं लिया जा सकता है। 
 मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वर्तमान में दुनिया में कोरोना वैक्सीन को लेकर 120 से ज्यादा प्रतिभागी काम कर रहे हैं। इनमें से 13 वैक्सीन ह्यूमन ट्रायल के फेज में हैं। इसमें चीन की 5, ब्रिटेन में 2, अमेरिका में 3, भारत की दो, ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी में 1-1 कोरोना वैक्सीन शामिल हैं। भारत में कोविड-19 की दो वैक्‍सीन कोवाक्सिन और जायकोव-डी का ह्यूमन ट्रायल किया जा रहा है। कोवाक्सिन का ट्रायल दिल्‍ली के एम्स के अलावा पटना एम्स और रोहतक के पीजीआई में भी किया जा रहा है। जायकोव-डी के ह्यूमन ट्रायल में 1048 लोग शामिल हैं। इसको बनाने वाली कंपनी जायडस कैडिला को उम्‍मीद है कि इसका ट्रायल अगले साल फरवरी या मार्च तक पूरा हो सकता है। ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्‍सीन एजेडडी1222 का भी ह्यूमन ट्रायल चल रहा है। इससे जुड़े वैज्ञानिकों को उम्‍मीद है कि उन्‍हें इसमें कामयाबी मिल जाएगी। उन्‍हें उम्‍मीद है कि ये वैक्‍सीन दोहरी सुरक्षा प्रदान कर सकता है। शोध में पता चला कि वैक्सीन ने ट्रायल के दौरान इंसानी शरीर को एंटीबॉडी और मारने वाला टी-सेल दोनों बनाने के लिए प्रेरित किया है।
अमेरिका की कपंनी मॉडर्ना की वैक्सीन का ट्रायल अंतिम फेज में है। इसका ट्रायल 87 अलग अलग जगहों पर हो रहा है। इस ट्रायल में 30 हजार लोगों को शामिल किया गया है। इसको सबसे एडवांस्‍ड वैक्‍सीन भी बताया जा रहा है। चीन की पांच वैक्‍सीन विभिन्‍न स्‍टेज से गुजर रही हैं। इनमें से एक का फेज 3 शुरू हो रहा है। इसके ट्रायल की मदद के लिए पेरू, मोरक्‍को और संयुक्‍त अरब अमीरात और अर्जेंटीना सामने आए हैं। चीन की इस वैक्‍सीन को चाइना नेशनल बायोटिक ग्रुप (सीएनबीजी) ने तैयार किया है। सिनोवैक की कोरोना वैक्सीन कोरोनावैक के इमरजेंसी में इस्तेमाल को मंजूरी दे दी गई है।

Comments