निरंतर खबरे :

योगी-मोदी शुक्रवार को यूपी के एक करोड़ लोगों को देंगे रोजगार| कोरोना संक्रमण पहुंचा 5 लाख के करीब, दिल्ली ने मुंबई को पीछे छोड़ा| कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के निर्माण की हुई घोषणा| लखनऊ:बैंक ऑफ बड़ौदा का जनरल मैनेजर कोरोना संक्रमित, बैंक अगले 24 घंटो के लिए बंद| 50 हजार करोड़ रुपये के गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत| T20 विश्व कप को लेकर CA का बड़ा बयान, कहा- फैंस को स्टेडियम में आने की अनुमति दी जाएगी| भारत-चीन विवाद पर राहुल गांधी ने पीएम पर फिर साधा निशाना, बोले- नरेन्द्र मोदी वास्तव में ‘सरेंडर’ मोदी हैं| आतंकवादी हमले की संभावना को लेकर हाई अलर्ट पर दिल्ली पुलिस| चीन को मिला बॉर्डर पर गुस्ताखी का जवाब| चाइनीज प्रोडक्ट्स बायकॉट करने की मांग| धूम्रपान से गहरा नाता है अकेलेपन का, लॉकडाउन में बढ़ सकती है समस्या|  लालजी टंडन की हालत नाजुक | लॉकडाउन की अफवाहों को छोड़ अनलॉक के दूसरे चरण की तैयारी करें राज्य| प्रवासी मजदूरों के लिए मोदी सरकार ला रही है मेगा प्लान|  24 घंटे में देश में मिले कोरोना के 12881 केस, 334 मरीजों की मौत| भारत अस्थायी सदस्य बनने पर पीएम मोदी बोले भारी समर्थन के लिए आभारी| पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी को हुआ कोरोना वायरस| बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने किया सुसाइड आज मुंबई में होगा अंतिम संस्कार| नए नक्शे को लेकर भारत के खिलाफ अगले कदम को तैयार नेपाल| देश में एक दिन में कोरोना के रिकॉर्ड 11502 नए केस, संक्रमितों की संख्या 3.32 लाख से अधिक|

घर पर सेलिब्रिटी जैसी नहीं लगती: कृति सैनन



मुंबई - अभिनेत्री कृति सैनन के लिए यह साल मिले-जुले अनुभव लेकर आया। जहां उनकी फिल्म ‘लुकाछुपी’ बॉक्स ऑफिस पर सफल रही, वहीं फिल्म ‘अर्जुन पटियाला’ को बहुत अच्छी प्रतिक्रिया नहीं मिली। पर कृति इन नतीजों से बहुत प्रभावित नजर नहीं आ रही हैं। वह बॉक्स ऑफिस के नतीजों की परवाह किए बिना अपने किरदारों में विविधता बनाए रखना चाहती हैं। आगामी फिल्म ‘पानीपत’ एक पीरियड ड्रामा फिल्म है। वहीं फिल्म ‘हाउसफुल 4’ कॉमेडी है। इन विविध फिल्मों पर वह कहती हैं, ‘बतौर एक्टर, फिल्मों के चयन में एक संतुलन बनाकर रखना जरूरी होता है। ऐसा न करने पर आप एक तरह की फिल्मों तक सीमित रह जाते हैं और आप पर एक विशेष तरह के एक्टर होने का ठप्पा लग जाता है। 
एक्टर को हर तरह के दर्शकों की पसंद के हिसाब से फिल्में करनी चाहिए। मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करती हूं कि यह संतुलन बनाकर रखूं। हमेशा बेहतरीन किरदार मिलना मुश्किल होता है। कभी लगता है, अरे यार, इतनी अच्छी स्क्रिप्ट का प्रस्ताव तो मेरे पास पहले कभी नहीं आया। और कभी लगता है, किरदार बहुत दिलचस्प तो नहीं है, पर कर लेती हूं। हमेशा दमदार किरदार का इंतजार तो नहीं करती रह सकती। वैसे भी, किसी फिल्म में काम करने की कोई एक वजह नहीं होती। उसकी कई वजहें हो सकती हैं, जैसे शानदार स्क्रिप्ट, शानदार टीम आदि। हमेशा शानदार रोल ही अहम नहीं होता। 
साल 2017 में रिलीज फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ ने उनकी तकदीर ही बदल दी। इस फिल्म ने कृति से जुड़े कई मिथक तोड़े। वह बताती हैं,‘कई लोगों को इस बात पर संदेह था कि मैं छोटे शहर की लड़की बिट्टी का किरदार निभा पाऊंगी या नहीं। पर जब मैंने इस किरदार को निभाया, तो उन्होंने मेरा एक अलग ही अंदाज देखा। मेरी इमेज हमेशा से एक ग्लैमरस अभिनेत्री की रही है। पर मुझे पता है कि मैं हूं तो दिल्ली की एक साधारण मिडिल क्लास लड़की ही। घर पर मैं कभी भी सेलिब्रिटी जैसी नहीं दिखती। मेरी मां को तो कभी-कभार हैरत होती है कि मैं हीरोइन कैसे बन गई।

Comments