निरंतर खबरे :

पूर्व न्याय मंत्री व विधायक ने छात्राओं को किया सम्मानित| प्राथमिक विद्यालय अस्ती के बच्चों ने किया जागरूक| वीरागंना झलकारी बाई की मनाई 190वीं जयंती | सपा संरक्षक मुलायम सिंह का मनाया जन्मदिन, काटा केक| छोटे किसानों का धान केंद्र में नहीं खरीदा जा रहाः रामदत्त मिश्रा| आवारा पशुओं द्वारा फसलों का नुकसान किए जाने पर चर्चा | शाहाबाद ब्लाक प्रमुख के जेठ नलिन गुप्ता की कार टैक्ट्रर ट्राली में जा घुसी,बाल बाल बचे| मुलायम के जन्मदिन पर 2022 में सपा की सरकार बनाने का लिया संकल्प| राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने मिशन शक्ति अभियान के तहत मनाया रानी लक्ष्मी बाई का जन्म दिवस।| शाहबाद लेखपाल संघ का चुनाव निर्विरोध संपन्न, नरेन्द्र बने पुनःअध्यक्ष| बीआरसी पर रानी लक्ष्मी बाई को दीप प्रज्वलित कर याद किया गया| ग्राम पंचायत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आजिविका मिशन की हुई बैठक| शाहाबाद कोतवाली में तैनात कांस्टेबल अमित कुमार, राहुल कुमार को एसपी अनुराग वत्स ने किया सम्मानित| महिला सुरक्षा और यातायात नियमों के प्रति किया जागरूक| छात्राओं को बताये सुरक्षा के गुर| सपा नौजवान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का राष्ट्रीय सचिव ने किया स्वागत| वृद्ध जरूरतमंद विकलांगो को भोजन लईया गट्टा पट्टी मोमबत्ती मिठाई का वितरण | भ्रष्टाचार के विरुद्ध गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक नें किया प्रदर्शन| मीना मंच सुगमकर्ता कार्य योजना की बैठक| प्रशासन और संभ्रांत जनों के बीच संवाद जरूरी |

बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज ख़ान का निधन



मुंबई - बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान की देर रात उनका मुंबई में निधन हो गया। सरोज के निधन की वजह कार्डियक अरेस्ट बताई जा रही है। बता दें, सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद सरोज खान को 20 जून को बांद्रा स्थित गुरु नानक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहीं, अस्पताल में भर्ती होने के बाद सरोज खान की अनिवार्य कोविड-19 जांच भी की गई थी, जिसमें संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई थी। सरोज खान का जन्म 22 नवंबर 1948 को मुंबई में हुआ था। वह 72 साल की थीं। उनका असली नाम निर्मला नागपाल था। उन्होंने 200 से ज्यादा फिल्मों के लिए कोरियोग्राफी की थी। सरोज पहले असिस्टेंट कोरियोग्राफर थी, लेकिन 1974 में आई फिल्म ‘गीता मेरा नाम’ से वो कोरियोग्राफर बन गईं। सरोज खान ने 1986 से लेकर 2019 तक कई हजारों की संख्या में बॉलीवुड फिल्मों में गानों को कोरियोग्राफ किया था, जिसमें ‘निंबुड़ा-निंबुड़ा’, ‘एक दो तीन’, ‘डोला रे डोला’, ‘काटे नहीं कटते’, ‘हवा-हवाई’, ‘ना जाने कहां से आई है’, ‘दिल धक-धक करने लगा’, ‘हमको आजकल है इंतजार’, ‘चोली के पीछे’ जैसे कई सुपरहिट और आइकोनिक गाने शामिल हैं। सरोज खान ने ‘तेजाब’, ‘खलनायक’, ‘मिस्टर इंडिया’, ‘चालबाज’, ‘नगीना’, ‘चांदनी’, ‘हम दिल दे चुके सनम’, ‘देवदास’ जैसी कई हिट फिल्मों के गानों को कोरियोग्राफ किया था। उन्होंने आखिरी गाना फिल्म ‘कलंक’ के लिए ‘तबाह हो गए’ को कोरियोग्राफ किया था। इस गाने में माधुरी दीक्षित डांस करती नजर आई थीं।
सरोज खान को 2007 में आई फिल्म ‘जब वी मेट’ के लिए बेस्ट कोरियोग्राफर राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार, फिल्म ‘गुरु’ के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड, 2002 में आई ‘देवदास’ के लिए फिल्म फेयर पुरस्कार और राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और फिल्म ‘लगान’ के लिए अमेरिकन कोरियोग्राफी अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका था। बॉलीवुड मे शायद ही ऐसा कोई बड़ा स्टार हो जिसे सरोज ने डांस न कराया हो। हर किसी को अपनी ताल पर नचाने वाली सरोज अब भले ही हमारे बीच नहीं रही, लेकिन उनकी यादें हमेशा हमारे दिलों में रहेंगी। 2020 बॉलीवुड के लिए बहुत ही बुरा साल साबित हो रहा है। एक के बाद एक कई बॉलीवुड सितारे इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं। सबसे पहले इरफान खान, फिर ऋषि कपूर और इनके सदमे से लोग बाहर भी नहीं आए थे कि म्यूजिक डायरेक्टर वाजिद खान की मौत की खबर सामने आ गई थी। इसके बाद सबसे ज्यादा हैरान कर देने वाली खबर सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड की सामने आई, जिससे लोग अभी भी पूरी तरह से उबर नहीं पाए हैं और अब सरोज खान के निधन से पूरा बॉलीवुड सदमे में है।

Comments